National

सहपाठियों के ताने से परेशान, कानून के छात्र ने की आत्महत्या

गाजियाबाद स्थित इनमेनटेक इंस्टीट्यूट में कानून के तृतीय वर्ष के दलित छात्र ने ऊंची जाति वाले अपने सहपाठियों से तंग आकर आत्महत्या कर ली। आरोपी सहपाठियों में तीन लड़के और एक लड़की शामिल हैं। पुलिस ने शनिवार को घटना की जानकारी दी। पुलिस के अनुसार, विपिन वर्मा (20) ने गाजियाबाद के शास्त्रीनगर स्थित अपने घर में गुरुवार को फांसी लगाई थी, लेकिन शुक्रवार देर रात को पीड़ित के पिता पुलिस कॉन्स्टेबल वीरेंद्र कुमार ने कविनगर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई।

पुलिस ने बताया कि नेहा चौधरी और उसके दोस्त अनु, अंकुर और अरुण 14 जून से विपिन के दलित होने की वजह से उसे तंग कर रहे थे। विपिन ने अपनी मां भगवती देवी को इस बारे में बताया था, जिसके बाद उन्होंने विपिन को इन सब बातों पर गौर न कर पढ़ाई पर ध्यान देने के लिए समझाया था।

एफआईआर के अनुसार, भगवती देवी ने यह बात अपने पति को बताई थी। तब वीरेंद्र (मृतक के पिता) ने मामले को सुलझाने के लिए गुरुवार को फोन पर विपिन के सहपाठियों से बात की थी, जिसके बाद उन लोगों ने वीरेंद्र कुमार को भरोसा दिलाया था कि वह अब ऐसा नहीं करेंगे। लेकिन उसी दिन विपिन ने घर पर शाम को पांच से छह बजे के बीच फांसी लगा ली।

अपनी शिकायत में वीरेंद्र कुमार ने कहा, “मैं एक दलित हूं और आरोपी ऊंची जाति के प्रभावशाली लोग हैं, इसलिए मेरी शिकायत में देरी हुई और आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।”

शहर के पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने कहा, “हमनें शिकायत दर्ज कर ली है, जांच चल रही है, आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।”

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.