National

पुलिस ने लाँच किया ‘कोविड-19’ पेट्रोलिंग दस्ता

राष्ट्रीय राजधानी पुलिस ने कोरोना त्रासदी के बीच ही पेट्रोलिंग टीमें (गश्ती) गठित कर दी। इस गश्ती दल का नाम ही ‘कोविड पेट्रोल’ रखा गया है। फिलहाल दक्षिणी जिले से शुरुआत की गई है। पहले दस्ते में 40 मोटर साइकिलों के बेड़े को उतारा गया है। इन पीले रंग की मोटर साइकिलों पर लाल रंग से ‘कोविड-19’ लिखा गया है। आने वाले वक्त में यह टीमें पूरी दिल्ली में मौजूद रहेंगी। फिलहाल इनकी शुरुआत दक्षिणी जिले से की गई है।

यह जानकारी दिल्ली पुलिस प्रवक्ता एसीपी अनिल मित्तल ने बुधवार दोपहर बाद आईएनएस को दी।

जिला पुलिस उपायुक्त ने भी कोविड-19 स्पेशल दस्ते के गठन की पुष्टि की है। इस दस्ते में तैनात दिल्ली पुलिस के जवान गली-गली में पहुंचकर लॉकडाउन की अहमियत से लोगों को जागरुक करेंगे। साथ ही वे यह भी जांचेंगे कि, कोरोना की रोकथाम के लिए छेड़े गये अभियान में कहीं कोई बाधा तो नहीं बन रहा है।

कोविड-19 दस्ता मुख्य रुप से कोरोनावायरस की रोकथाम के कदमों का प्रचार-प्रसार करने के उद्देश्य से ही गठित किया गया है। लिहाजा ऐसे में इस दस्ते में शामिल जवानों को कोरोना संबंधी सभी जरुरी जानकारियों से भी ट्रेंड किया गया है। ताकि कोरोना वायरस की भयावह स्थिति से यह लोग अनजान इंसानों में जागरुकता पैदा कर सकें।

यह विशेष कोरोना मोटरसाइकिल दस्ते लोगों को महामारी कानून और उससे होने वाली परेशानियों से भी लोगों को जागरुक करेगा। साथ ही गली-गली जाकर यह पुलिस जवान कोरोना के बारे में बतायेंगे कि, सोशल डिस्टेंसिंग कोरोना से बचने के लिए कितनी ज्यादा महत्वपूर्ण है।

प्रवक्ता के मुताबिक, ‘कोविड-19’ दस्ते लोगों को एनाउनंसमेंट करके भी कोरोना से बचाव के उपाय बतायेंगे। चूंकि इस दस्ते के जवान मोटर साइकिलों पर होंगे, इसलिए आमजन और घर घर तक इनका पहुंचना आसान होगा। जबकि अब तक जिप्सी या पुलिस के बड़े वाहन गली मुहल्लों के अंदर नहीं जा पा रहे थे।”

साथ ही यह मोटर साइकिल दस्ते दिल्ली की सीमाओं पर मौजूद गश्त (पेट्रोलिंग टीम) टीमों को भी जांचेंगे। राजधानी की सीमा में कोई संदिग्ध कॉमर्शियल वाहन नजर आने पर यह मोटर साइकिल दस्ते उसे भी चैक करेंगे। इन दस्तों का हाल-फिलहाल इसी बात पर जोर होगा कि, सोशल डिस्टेंसिंग हर हाल में बरकरार रखवा सकें।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.