National

अवैध रूप से बच्चा गोद लेने का मामला दर्ज डॉक्टर के खिलाफ

सरकारी प्रक्रियाओं का पालन किए बिना एक नवजात शिशु को कथित तौर पर गोद लेने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।

गुरुग्राम : साइबर सिटी गुरुग्राम के सेक्टर 56 में एक निजी क्लिनिक चलाने वाले एक डॉक्टर और एक दंपति के खिलाफ सरकारी प्रक्रियाओं का पालन किए बिना एक नवजात शिशु को कथित तौर पर गोद लेने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने सोमवार को बताया कि मामला स्थानीय अदालत के निर्देश पर दर्ज किया गया है।

रविवार शाम गुरुग्राम के सेक्टर 56 पुलिस स्टेशन में किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम, 2015 की धाराओं के तहत एक मामला दर्ज किया गया था।

यह भी आरोप है कि पुलिस ने शुरुआत में मामला दर्ज नहीं किया और शिकायतकर्ताओं के साथ दुर्व्यवहार भी किया और यहां तक कि उन्हें अवैध रूप से लॉकअप में डाल दिया। पुलिस की ओर से कोई सुनवाई नहीं होने पर शिकायतकर्ताओं ने अदालत का दरवाजा खटखटाया। बाद में अदालत के आदेश पर मामला दर्ज किया गया।

शिकायतकर्ता महिला के अनुसार, वह सेक्टर 56 में अपने साथी के साथ आपसी सहमति से रिश्ते में रह रही थी। गर्भवती होने पर वह अपने साथी के साथ सेक्टर 56 में डॉ. मोनिका चौधरी के ‘गेट वेल क्लिनिक’ में गई।

दंपति ने प्रसव के बाद अपने नवजात शिशु को एक एनजीओ को देने की इच्छा व्यक्त की।

पहले तो डॉक्टर ने ऐसा करने से इनकार कर दिया, लेकिन जब यह जोड़ा दूसरी बार वहां पहुंचा तो डॉक्टर ने उन्हें एक अन्य दंपति से मिलवाया, जिनकी पहचान सरकार कौशिक और गरिमा भारद्वाज के रूप में हुई है, जो बच्चे को गोद लेने के लिए तैयार थे।

जुलाई 2019 में महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया और दंपति सरकार और गरिमा बच्चे को ले गए। शिकायतकर्ताओं ने दंपति को गोद लेने की सभी औपचारिकताएं पूरी करने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने इसके बाद उनके फोन का कोई भी जवाब देना बंद कर दिया।

कई बार कॉल का जवाब जब नहीं मिला तो शिकायतकर्ताओं ने उस दंपति से मिलने का फैसला किया। लेकिन जब वह उनके घर पहुंचे तो वह बंद मिला।

उन्होंने डॉक्टर से संपर्क किया, जिन्होंने उनकी मदद करने से इनकार कर दिया। महिला मदद मांगने के लिए पुलिस स्टेशन गई, जहां पुलिसकर्मियों ने उन्हें मदद का आश्वासन दिया, लेकिन प्राथमिकी दर्ज करने से इनकार कर दिया।

इसके बाद उन्होंने दालत का दरवाजा खटखटाया और अदालत के निर्देश के बाद दंपति के साथ-साथ डॉक्टर के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया।

गुरुग्राम पुलिस के प्रवक्ता सुभाष बोकन ने कहा, “तीनों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और जांच जारी है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।”

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.