National

छत्तीसगढ़ सरकार ने कर्जमाफी की ओर बढ़ाया कदम

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शपथ ग्रहण के 10 दिनों के भीतर किसानों की कर्जमाफी का वादा पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ाया है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि राज्य की 1276 सहकारी समितियों से जुड़े तीन लाख 57 हजार किसानों के खाते में एक ही दिन में एक हजार 248 करोड़ रुपये ऑनलाइन हस्तांतरित कर दिए गए। बघेल ने एक बयान जारी कर कहा, “जो रकम लिंकिंग के तहत किसानों से ली गई थी, वह घोषणा के अनुरूप वापस की गई है। बघेल ने कहा कि राज्य सरकार पक्के वादे और नेक इरादे के साथ अपना वचन पूरा कर रही है।”

बघेल ने 17 दिसंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उनके निर्देश पर सहकारिता विभाग ने अल्पकालीन कृषिऋण माफी योजना-2018 भी पहले ही जारी कर दी है। योजना के तहत सहकारी बैंकों और छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंकों के कुल 16 लाख 65 हजार किसानों के छह हजार 230 करोड़ रुपये माफ किए जाएंगे।

इस योजना के तहत सहकारी बैंकों और प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के लगभग 15 लाख किसानों के 30 नवंबर, 2018 तक की स्थिति में कृषि ऋणों की करीब पांच हजार 170 करोड़ रुपये की धन माफ की जा रही है। इसी कड़ी में 1 नवंबर से 30 नवंबर, 2018 के बीच प्राथमिक कृषि साख समितियों से लिकिंग या नगद चुकाई गई ऋण राशि भी माफी योग्य है।

सहकारिता विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सबसे पहले इन प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों की ओर से 24 दिसंबर, 2018 तक नगद/लिकिंग में लगभग तीन लाख 57 हजार किसानों से एक हजार 248 करोड़ रुपये की वसूली की गई है, जिसको वापस करने की कार्यवाही की जा रही है। ऋण माफी योजना के तहत किसानों के अधिकतम पांच लाख रुपये के ऋण माफ किए जाएंगे। छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक से संबद्ध लगभग एक लाख 65 हजार किसानों के 1060 करोड़ रुपये के ऋण माफ होंगे।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.