Sports

भारत की तीसरी सबसे बड़ी जीत में चमके रोहित, रायडू

पिछले दो मैचों में कमजोर सी नजर आने वाली भारतीय टीम ने सोमवार को यहां ब्रेब्रॉन स्टेडियम में खेले गए चौथे मैच में दमदार वापसी करते हुए वेस्टइंडीज को 224 रनों के बड़े अंतर से हरा दिया। यह वनडे क्रिकेट में भारत की रनों के लिहाज से तीसरी सबसे बड़ी जीत है। भारत के लिए पहले रोहित शर्मा (162) और अंबाती रायडू (100) ने शानदार पारियां खेलते हुए टीम को 50 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 377 रनों का विशाल स्कोर दिया। इसके बाद कुलदीप यादव और खलील अहमद ने वेस्टइंडीज को 36.2 ओवरों में 153 रनों पर समेट दिया।

भारत की टेस्ट खेलने वाले देशों के खिलाफ वनडे में अभी तक की सबसे बड़ी जीत है। इसी के साथ भारत पांच मैचों की वनडे सीरीज में 2-1 से आगे हो गया। सीरीज का दूसरा मैच टाई रहा था।

खलील ने विंडीज के मध्य क्रम को तोड़ा तो निचला क्रम कुलदीप के हत्थे चढ़ा। दोनों ने तीन-तीन विकेट लिए। इन दोनों के अलावा भुवनेश्वर कुमार और रवींद्र जडेजा को एक-एक सफलता मिली।

दो बल्लेबाज रन आउट हुए। मजबूत लक्ष्य के सामने मेहमान टीम को मजबूत शुरुआत चाहिए थे जो भुवनेश्वर ने करने नहीं दी। उन्होंने 20 के कुल स्कोर पर चंद्रपॉल हेमराज (14) को आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई।

अगले दो विकेट रन आउट हुए। पिछले दो मैचों में बल्ले से शानदार फॉर्म में चल रहे शाई होप (0) 20 के कुल स्कोर पर ही कुलदीप की सीधी थ्रो पर रन आउट हुए। इसी स्कोर पर भारतीय कप्तान विराट कोहली ने केरन पावेल (4) को रन आउट किया।

यहां से खलील ने गेंद ली और लगाकार अंतराल पर तीन विकेट लेकर विंडीज की हार तय कर दी। उन्होंने शिमरोन हेटमायेर (13), रोवमैन पावेल (1) और मार्लन सैमुएल्स (18) को पवेलियन भेज विंडीज का स्कोर 56 पर छह विकेट कर दिया।

फिर कुलदीप ने गेंद थामी और फाबियान एलेन (10) को पवेलियन भेजा। कप्तान होल्डर एक छोर से रन बना रहे थे। लग रहा था कि विंडीज 100 के कुल स्कोर से पहले ही निपट लेगी लेकिन होल्डर ने पहले एशले नर्स (8) के साथ आठवें विकेट के लिए 24 रनों की साझेदारी और फिर कीमो पॉल (19) के साथ 31 तथा केमरन रोच के साथ 21 रनों की साझेदारी कर हार के अंतर को कम करने की कोशिश की।

कुलदीप ने नर्स को आउट किया तो वहीं जडेजा ने पॉल को महेंद्र सिंह धोनी के हाथों स्टम्पिंग कराया। रोच को आउट कर कुलदीप ने विंडीज की पारी समेट दी।

इससे पहले, मेहमान टीम के गेंदबाजों को रोहित और रायडू की जोड़ी ने जमकर पीटा। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 211 रनों की शतकीय साझेदारी की। रोहित का यह 21वां वनडे शतक था तो वहीं रायडू का तीसरा वनडे शतक।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारत को इस मैच में अच्छी शुरुआत मिली और रोहित के जोड़ीदार शिखर धवन ने 38 रनों की पारी खेलते हुए पहले विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी की। पॉल की गेंद पर धवन पावेल को कैच देकर पवेलियन लौट लिए।

पिछले तीन मैचों में शतकीय पारी खेलने वाले कोहली इस मैच में 16 रन ही बना सके। वह 101 के कुल स्कोर पर रोच की गेंद पर शाई होप के द्वारा लपके गए।

इसके बाद वेस्टइंडीज के गेंदबाजों को रोहित और रायडू की जोड़ी ने विकेटों के लिए तरसा दिया और उनकी गेंदों को लगातार सीमापार भेजते रहे। रोहित शुरुआत में ज्यादा तेज नहीं खेल रहे थे जबकि रायडू का बल्ला बाउंड्रियां ढूंढ़ रहा था। रोहित ने 32वें ओवर की तीसरी गेंद पर चौका मारकर अपना 21वां वनडे शतक पूरा किया। इसके लिए उन्होंने 98वें गेंदें ली।

शतक पूरा होने के बाद रोहित भी आक्रामक हो गए। शतक के बाद उन्होंने अगले 62 रनों के लिए 39 गेंदों का सामना किया। इसी आक्रामकता में रोहित, नर्स की गेंद पर आउट होकर पवेलियन लौट लिए। 312 के कुल स्कोर पर हेमराज ने उनका शानदार कैच पकड़ा। रोहित ने अपनी पारी में 139 गेंदों का सामना करते हुए 20 चौके और चार छक्के लगाए। यह रोहित का वनडे में सातवीं बार 150 से ज्यादा का स्कोर है।

इसके बाद रायडू ने 46वें ओवर की चौथी गेंद पर एक रन लेकर अपना शतक पूरा किया। वह हालांकि अपने स्कोर को इससे आगे नहीं ले जा सके और अगले ओवर की पहली ही गेंद पर एलेन की सीधी थ्रो पर रन आउट हो गए। रायडू ने अपनी पारी में 81 गेंदों का सामना किया और आठ चौकों के अलावा चार छक्के मारे।

अंत में धोनी ने 15 गेंदों में दो चौकों की मदद से 23 रन बनाए। केदार जाधव 16 और रवींद्र जडेजा सात रन बनाकर नाबाद रहे।

रोच को दो विकेट मिले। एशले नर्स और कीमो पॉल को एक-एक सफलता मिली।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.