Sports

धोनी की सुपर किंग्स को आईपीएल में पहली बार मिली 10 विकेट से हार

इस मैच से पहले यह दोनों टीमें सीजन के पहले मैच में भिड़ी थीं। उस मैच में चेन्नई ने जीत दर्ज की थी, लेकिन उसके बाद वह बैकफुट पर ही दिखी है।

शारजाह : चेन्नई सुपर किंग्स के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 13वां सीजन अभी तक का सबसे बुरा सीजन रहा है। उसका यह क्रम शुक्रवार को भी जारी रहा और मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस ने चेन्नई को 10 विकेट से हरा दिया। शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करने वाली चेन्नई को बेहद सस्ते में आउट करने की तैयारी कर ली थी, लेकिन बीच में आ गए सैम कुरैन। कुरैन ने 52 रनों की पारी खेल एक समय 50 रनों का स्कोर पाने के लिए संघर्ष करती दिख रही चेन्नई को 20 ओवरों में नौ विकेट पर 114 रनों के स्कोर तक पहुंचा दिया।

चार विकेट लेने वाले ट्रेंट बाउल्ट ने कुरैन को आखिरी गेंद पर बोल्ड किया। कुरैन ने अपनी पारी में 47 गेंदें खेली। उन्होंने चार चौके और दो छक्के लगाए।

इन-फॉर्म मुंबई के लिए यह लक्ष्य आसान था। चार बार की विजेता ने 12.2 ओवरों में यह लक्ष्य हासिल कर लिया। नियमित कप्तान रोहित शर्मा इस मैच में चोट के कारण नहीं खेल रहे थे, लेकिन टीम में उनकी कमी खली नहीं। कीरन पोलार्ड ने उनकी जगह कप्तानी की।

इस मैच से पहले यह दोनों टीमें सीजन के पहले मैच में भिड़ी थीं। उस मैच में चेन्नई ने जीत दर्ज की थी, लेकिन उसके बाद वह बैकफुट पर ही दिखी है।

मुंबई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी। बाउल्ट और जसप्रीत बुमराह ने शुरुआती ओवरों में ही चेन्नई को उस स्थिति में पहुंचा दिया जिसकी कल्पना उसके प्रशंसकों ने नहीं की थी।

तीन रनों पर चार विकेट चेन्नई ने गंवा दिए थे। शेन वाटसन की जगह इस मैच में वापसी कर रहे ऋतुराज गायकवाड़ (0) को बाउल्ट ने पहले ओवर की पांचवीं गेंद पर आउट कर दिया।

दूसरे ओवर में बुमराह ने अंबाती रायडू (2) और एन.जगदीशन (0) को आउट कर दिया। बुमराह हैट्रिक पर थे और सामने थे चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जिन्होंने बुमराह की इच्छा पूरी नहीं होने दी।

बाउल्ट ने फिर रवींद्र जडेजा (7) को आउट किया। कप्तान धोनी (16) को राहुल चहर ने अपनी फिरकी में फंसा लिया। यही हाल उन्होंने अपने भाई दीपक चहर (0) का किया।

कुरैन ने फिर शार्दूल ठाकुर (11) के साथ साझेदारी की। ठाकुर को नाथन कुल्टर नाइल ने आउट किया। फिर कुरैन ने इमरान ताहिर (नाबाद 13) के साथ 40 रनों की साझेदारी की।

रोहित की जगह ईशान किशन (नाबाद 68) क्विटंन डी कॉक (नाबाद 46) के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे और दोनों ने चेन्नई को एक भी सफलता अर्जित नहीं करने दी।

जिस तरह से मुंबई के गेंदबाजों ने चेन्नई पर अपना दबदबा दिखाया उसी तरह ईशान और डी कॉक ने किया। दोनों ने टीम को आक्रामक शुरुआत दी और अपने आक्रामक अंदाज को अंत तक कायम रखा।

ईशान ने अपनी पारी में 37 गेंदों का सामना कर छह चौके और पांच छक्के लगाए। डी कॉक ने भी 37 गेंदें खेलीं और पांच चौकों के अलावा दो छक्के जड़े।

इस हार के बाद चेन्नई का प्लेऑफ में जाना बेहद मुश्किल हो गया है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button