National

4.84 लाख जरूरतमंदों को कोरोना काल में पूर्व-मध्य रेलवे ने मुफ्त भोजन करवाया

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने कहा कि किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए रेलवे चिकित्सालयों में अनुभवी चिकित्सक, नर्स एवं पारा मेडिकल स्टाफ 24 घंटे तैनात हैं।

हाजीपुर : कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पूर्व मध्य रेलवे द्वारा अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है। इस वायरस से बचाव के लिए प्रारंभ में जो कदम उठाए गए थे, उस दिशा में अभी भी कार्य जारी है। इस दौरान अब तक तक 4 लाख 84 हजार असहाय एवं जरूरतमंद लोगों को नि:शुल्क भोजन कराया गया है। पूर्व-मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बुधवार को कहा कि किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए रेलवे चिकित्सालयों में अनुभवी चिकित्सक, नर्स एवं पारा मेडिकल स्टाफ चौबीस घंटे तैनात हैं। कोरोनावायरस के मरीजों को चिकित्सा सुविधा प्रदान करने हेतु रेलवे चिकित्सालयों में कार्यरत 1500 से अधिक मेडिकल स्टाफ को विशेष रूप से प्रशिक्षित भी किया गया है।

कुमार ने कहा, “कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए तैनात चिकित्सकों एवं स्वास्थ्यकर्मियों के लिए पूर्व मध्य रेल द्वारा स्वयं 1,03,548 फेसमास्क तथा 20,961 पीपीई किट तैयार किए जा चुके हैं, जिसकी आपूर्ति रेलवे चिकित्सालयों में की जा रही है। इसी तरह 12 हजार लीटर से अधिक सेनिटाइजर भी तैयार किए जा चुके हैं। लोको पायलट, कीमैन, गैंगमैन सहित अन्य लाइन कर्मचारियों को भी ये किट उपलब्ध कराए जा रहे हैं।”

उन्होंने बताया कि पूर्व मध्य रेल द्वारा रेल सुरक्षा बलों के सहयोग से विभिन्न स्टेशनों पर 16 जून तक 4 लाख 84 हजार असहाय एवं जरूरतमंद लोगों को नि:शुल्क भोजन उपलब्ध कराया जा चुका है, जिससे लोगों को काफी राहत पहुंची है। इस क्रम में समस्तीपुर मंडल में लगभग दो लाख, दानापुर मंडल में 1़55 लाख, पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल में लगभग 70 हजार, सोनपुर मंडल में 44 हजार तथा धनबाद मंडल में 18 हजार से अधिक लोगों को नि:शुल्क भोजन मुहैया कराया गया।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.