National

पत्नी, बेटे, बेटी को एक के बाद एक मारी गोली, खुद लटका छत से

सीआरपीएफ में वाहन चालक के पद पर कार्यरत एक जवान ने अपनी पत्नी और दो बच्चों की गोली मारकर हत्या करने के बाद फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश) : केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) में वाहन चालक के पद पर कार्यरत एक जवान ने यहां अपनी पत्नी और दो बच्चों की गोली मारकर हत्या करने के बाद फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। एक अधिकारी ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा, “हालांकि, उसकी गर्दन पर एक गोली का घाव भी मिला।”

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में थरवई पुलिस स्टेशन के अंतर्गत पाडिला स्थित सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर में शनिवार को यह घटना हुई।

एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (एडीजी) प्रेम प्रकाश ने कहा, “सीआरपीएफ की 224वीं बटालियन में ड्राइवर के पद पर कार्यरत 41 वर्षीय विनोद कुमार यादव प्रयागराज के मेजा तहसील स्थित सिरसा इलाके से तालुक रखता था। वर्तमान में वह अपने परिवार के साथ पाडिला में सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर के एक सरकारी क्वार्टर में रह रहा था।”

एडीजी ने आगे कहा, “यादव ने शनिवार को पहले अपनी 36 वर्षीय पत्नी विमला, 14 वर्षीय बेटे संदीप व 12 साल की बेटी सिमरन को गोली मारी और इसके बाद खुद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घर के दरवाजे इस दौरान भीतर से बंद थे।”

समाचर की सूचना मिलते ही सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे।

एडीजी ने कहा, “यह भी पता चला है कि यादव शराब पीकर पड़ोस के क्वार्टरों में रह रही अन्य महिलाओं पर भी आपत्तिजनक टिप्पणियां किया करता था। “

उन्होंने बताया, “बाहरी स्थान पर तैनात सीआरपीएफ के एक अन्य जवान की पत्नी ने इस बात की शिकायत वरिष्ठ अधिकारियों से की थी और सेंटर के उप-कमांडेंट ने यादव को इस संबंध में शुक्रवार को तलब किया था।”

उन्होंने कहा, “यादव ने शुक्रवार रात को भी अपने घर में लड़ाई शुरू कर दी और जब पड़ोसियों ने बीच बचाव करने की कोशिश की, तो उसने उन्हें भी दूर रहने को लेतर चेताया।”

शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया और यादव के परिजनों को सूचित कर दिया गया है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.