National

मानसून ने देश में रखा कदम

अरब सागर के ऊपर चक्रवात 'निसर्ग' के बनने से केरल में मॉनसून की शुरुआत के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।

नई दिल्ली : दक्षिण-पश्चिम मानसून केरल पहुंच गया है। यह ठीक उसी दिन पहुंचा है जिस दिन तटीय राज्य से इसके टकराने की भविष्यवाणी की गई थी। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने सोमवार को यह कहा। इस सप्ताह की शुरुआत में मौसम ब्यूरो ने कहा था कि मानसूनी बारिश 1 जून के आसपास भारत में होने की संभावना है। इससे पहले इसने 5 जून को पहुंचेन की बात कही थी, लेकिन बाद में बयान में बदलाव कर दिया। 2019 में, मानसून ने 8 जून को केरल में दस्तक दी थी।

आईएमडी ने कहा, “दक्षिण-पश्चिम मॉनसून आज, 1 जून 2020 को केरल में पहुंच गया है।”

अरब सागर के ऊपर चक्रवात ‘निसर्ग’ के बनने से केरल में मॉनसून की शुरुआत के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव माधवन राजीवन ने 15 अप्रैल को अपने पूर्वानुमान में कहा था कि इस वर्ष मानसून की बारिश सामान्य रूप से लंबी अवधि के औसत के 100 प्रतिशत सामान्य होने की संभावना है। इसमें 5 प्रतिशत इधर-उधर हो सकता है।

अईएमडी दोपहर बाद मानसून के संबंध में दूसरे चरण का पूर्वानुमान जारी करेगा।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.