World

वन्यजीव खाने पर लगा पाबंदी

चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा (एनपीसी) ने हाल में अवैध वन्यजीव व्यापार पर प्रतिबंध लगाने संबंधी एक कानून प्रस्ताव पारित किया और पूर्ण रूप से चीन में वन्यजीवों के खाने पर पाबंदी लगाने का ऐलान किया। चीन ने वन्यजीव से संबंधित गैरकानूनी कार्रवाइयों पर कड़ी सजा देने का निर्णय लिया है। चीन के विभिन्न स्थलों के लोगों ने इस प्रस्ताव की सराहना की और कहा कि वे आशा करते हैं कि इस प्रस्ताव का प्रसार किया जाएगा और वन्यजीव खाने पर पाबंदी लगाने की ठोस कार्रवाई की जाएगी।

इस कानून प्रस्ताव के मुताबिक सभी वन्यजीव संरक्षण कानून और अन्य कानूनों के मुताबिक वन्यजीव को पकड़ने, व्यापार करने और खाने पर पाबंदी लगायी जानी चाहिए। राष्ट्रीय संरक्षण की सूची में अहम पारिस्थितिकी, वैज्ञानिक व सामाजिक मूल्य वाले थलीय वन्यजीवों और अन्य थलीय वन्यजीवों को खाना मनाया जाता है।

इस संदर्भ में चीनी कानून सोसाइटी के सदस्य, पेइचिंग देश्यांग विधि कार्यालय के प्रधान आन श्यांग ने कहा कि इस कानून ने मौजूदा वन्यजीवों के संरक्षण का उल्लंघन करने वाली कार्रवाइयों की कड़ी सजा देने के अलावा यह भी स्पष्ट किया कि थलीय वन्यजीव खाने की मनाही है। पहले कुछ लोगों ने कृत्रिम पालन करने के तरीकों से वन्यजीवों का व्यापार कानूनी बनाया। अब यह भी गैरकानूनी होगा।

चीनी कृषि व गांव मंत्रालय के अधिकारी हान श्वू ने कहा कि उन का मंत्रालय चीनी राष्ट्रीय वन्य व घास ब्यूरो के साथ जनता के स्वास्थ्य व सुरक्षा को गारंटी देने और जल उत्पादों की सप्लाई सुरक्षा को गारंटी देने के सिद्धांत के आधार पर संबंधित सूची का बंदोबस्त कर रहा है, ताकि खाने पर पाबंदी लगाने वाले वन्यजीवों की सूची स्पष्ट करे। यह सूची चीनी राज्य परिषद की पुष्टि के बाद जारी की जाएगी।

वकील आन श्यांग ने कहा कि इस कानून प्रस्ताव में कहा गया कि वैज्ञानिक अनुसंधान, औषधि और प्रदर्शन आदि खास प्रयोग के लिए वन्यजीव नियमों का पालन करने की जरूरत है। लेकिन संबंधित नियमावलियों के मुताबिक सख्त जांच या परीक्षण करने की जरूरत है। आशा है कि भविष्य में इस कानून का संशोधन करने की प्रक्रिया में इसे और स्पष्ट किया जा सकेगा, ताकि इस कानून के कार्यान्वयन को सुनिश्चित किया जा सके।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.