Tuesday , July 23 2019
Cheteshwar Pujara
फाइल : चेतेश्वर पुजारा, फोटो - आईएएनएस

पुजारा की शतकीय पारी से भारत की मजबूत शुरुआत

अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (130) की नाबाद शतकीय पारी से भारतीय क्रिकेट टीम ने चौथे और अंतिम टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार को पहली पारी में आस्ट्रेलिया के खिलाफ चार विकेट के नुकसान पर 303 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा कर लिया। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जा रहे मैच में पुजारा के साथ हनुमा विहारी (39) नाबाद लौटे हैं।

इस मैच के पहले दिन दोनों टीमों के खिलाड़ी काले रंग का बैंड पहनकर उतरे। भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने काले रंग का बैंड क्रिकेट जगत को सचिन तेंदुलकर जैसा नायाब तोहफा देने वाले कोच रमाकांत आचरेकर के निधन पर शोक जताने के लिए पहना था।

आचरेकर का बुधवार को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

आस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने पूर्व बल्लेबाज बिल वॉट्सन की याद में काले रंग का बैंड पहना।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने पहले सत्र के समापन तक लोकेश राहुल (9) के रूप में एकमात्र विकेट गंवाकर 69 रनों का स्कोर बनाया। राहुल एक बार फिर नाकाम रहे। उन्हें जोश हेजलवुड ने पवेलियन की राह दिखाई। पुजारा के साथ मयंक अग्रवाल नाबाद लौटे।

इसके बाद, दूसरे सत्र में पुजारा और मयंक ने दूसरे विकेट के लिए 116 रनों की साझेदारी कर टीम को 126 के स्कोर तक पहुंचाया लेकिन इसी स्कोर पर नाथन लॉयन ने मयंक को पवेलियन का रास्ता दिखाया।

मयंक लंबा शॉट मारने की कोशिश में मिशेल स्टॉर्क के हाथों लपके गए। उन्होंने 77 रनों की अपनी पारी में 112 गेंदें खेलीं और सात चौके व दो छक्के लगाए। पुजारा ने इसके बाद कप्तान विराट कोहली के साथ दूसरे सत्र के समापन तक बिना कोई अन्य विकेट गंवाए टीम को 177 के स्कोर तक पहुंचाया।

तीसरे सत्र में भारतीय टीम के लिए मैदान पर मौजूद पुजारा और कोहली ने तीन ही रन जोड़े थे कि हेजलवुड ने कोहली को आउट कर भारत को दिन का तीसरा झटका दिया। वह विकेट के पीछे खड़े कप्तान और विकेटकीपर टिम पेन के हाथों लपके गए। कोहली ने 23 रन बनाए।

पिच के एक छोर पर भारतीय पारी को संभाले खड़े पुजारा का साथ देने आए अजिंक्य रहाणे (18) को स्टॉर्क ने अधिक समय तक मैदान पर टिकने नहीं दिया। वह भी पेन के हाथों लपके गए।

पुजारा ने इस बीच अपने 68वें टेस्ट मैच में टेस्ट करियर का 18वां शतक पूरा किया। वह आस्ट्रेलिया के खिलाफ एक सीरीज में सबसे अधिक शतक लगाने वाले बल्लेबाजों की सूची में दूसरे स्थान पर आ गए हैं। इस सूची में कोहली चार शतकों के साथ पहले स्थान पर हैं। सुनील गावस्कर भी पुजारा के साथ संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर हैं। उन्होंने भी तीन शतक जड़े थे।

पुजारा ने पांचवें विकेट के लिए विहारी के साथ कोई नुकसान किए बगैर 75 रन जोड़े और टीम को 303 के स्कोर तक पहुंचाया। इसके साथ ही दिन का खेल समाप्त हो गया। पुजारा ने 250 गेंदों की अपनी पारी में अभी तक 16 चौके लगाए हैं।

इस सीरीज में पुजारा सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। उन्होंने अब तक कुल 458 रन बनाए हैं। कोहली ने इस सीरीज में 282 रन बनाए हैं।

इसके अलावा, पुजारा आस्ट्रेलिया के खिलाफ किसी टेस्ट मैच के पहले दिन सबसे अधिक रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाजों की सूची में चौथे स्थान पर हैं। इस सूची में वीरेंद्र सहवाग सबसे ऊपर हैं। पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने मेलबर्न में 2003 में खेले गए मैच में पहले दिन पहली पारी में 195 रन बनाए थे।

पुजारा एक सीरीज में आस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे अधिक गेंदों का सामना करने वाले भारतीय बल्लेबाजों में राहुल द्रविड़, सुनील गावस्कर, विजय हजारे और कोहली के साथ शामिल हो गए हैं। उन्होंने इस सीरीज में अब तक कुल 1135 गेंदों का सामना किया है।

द्रविड़ ने 2003-04 में खेली गई सीरीज में 1203, हजारे ने 1947-48 में खेली गई सीरीज में 1192 और गावस्कर ने 1977-78 में 1032 और कोहली ने 2014-15 में 1093 गेंदों का सामना किया था। इस मामले में चेतेश्वर पुजारा, गावस्कर और कोहली से आगे निकल गए हैं।

आस्ट्रेलिया के लिए इस पारी में जोश हेजलवुड ने सबसे अधिक दो विकेट लिए, वहीं मिशेल स्टॉर्क और नाथन लॉयन को एक-एक सफलता हाथ लगी। स्टॉर्क 200 टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में शामिल होने से केवल एक विकेट दूर हैं।

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच जारी चार टेस्ट मैचों की इस सीरीज में मेहमान टीम ने 2-1 की बढ़त हासिल कर रखी है।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *