National

आशीर्वाद का प्रतीक गमछा पहनकर टीका लगवाने पहुंचे पीएम

आधे घंटे तक उन्हें निगरानी में रखा गया। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी सुबह सात बजे एम्स से अपने 7 लोक कल्याण मार्ग वापस लौटे।

नई दिल्ली : देश में 60 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए टीकाकरण शुरू होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को एम्स पहुंचकर कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक ली।

पुडुचेरी की सिस्टर पी. निवेदा के निर्देशन में प्रधानमंत्री मोदी को भारत बायोटेक का कोवैक्सीन टीका लगाया गया। खास बात है कि प्रधानमंत्री मोदी असम का गमछा पहनकर टीका लगवाने पहुंचे थे। यह गमछा, असम की महिलाओं के आशीर्वाद का प्रतीक माना जाता है।

कई मौकों पर प्रधानमंत्री मोदी को इसे पहने हुए देखा गया है। पुदुचेरी की नर्स सिस्टर पी निवेदा के निर्देशन में प्रधानमंत्री मोदी ने भारत बायोटेक की कोवैक्सीन लगवाई। वैक्सीन लगवाने में सहयोग करने वाली दूसरी नर्स केरल की रहीं।

प्रधानमंत्री मोदी बिना किसी पूर्व निर्धारित रूट के सुबह-सुबह एम्स पहुंचे, ताकि किसी को दिक्कत न हो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 6.25 मिनट पर कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाया।

आधे घंटे तक उन्हें निगरानी में रखा गया। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी सुबह सात बजे एम्स से अपने 7 लोक कल्याण मार्ग वापस लौटे।

वैक्सीन की पहली डोज लेने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, “मैने एम्स में कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज ली। उल्लेखनीय है कि कैसे हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोविड-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूत करने के लिए तेज गति से काम किया। मैं लोगों से वैक्सीन लेने की अपील करता हूं। आइए, मिलकर हम भारत को कोविड 19 मुक्त बनाएं।”

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button