Thursday , December 5 2019
Suicide
प्रतीकी चित्र

हिंसक भीड़ का शिकार एक और व्यक्ति की मौत

पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार जिले में मॉब लिंचिग (भीड़ हिंसा) का एक और मामला सामने आया है। पुलिस ने सोमवार को बताया कि हिंसक भीड़ ने बच्चों का अपहरण करने के शक में एक व्यक्ति की बुरी तरह पिटाई कर दी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। इस मामले में अभी तक सात लोगों की गिरफ्तारी की गई है। अलीपुरद्वार पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “करीब 35 वर्षीय एक व्यक्ति को रविवार की रात तासती चाय-एस्टेट के पास पीट-पीटकर मार डाला गया। सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है और हम उस व्यक्ति की पहचान का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं।”

अधिकारी ने कहा कि उन्होंने सोशल मीडिया पर अफवाहें फैलाने के लिए दो लोगों को भी पकड़ा है।

बाल-अपहरण के संदेह पर अलीपुरद्वार में मजहर-डाबरी चाय इस्टेट में भीड़ द्वारा शनिवार को एक युवक को बुरी तरह से पीटा गया। बाद में कुछ स्थानीय लोगों ने उसे बचाया और एक प्राथमिक स्कूल की इमारत के अंदर बंद कर दिया।

जिले के लिचुटाला इलाके में शनिवार रात एक और बच्चे के अपहरण की अफवाह फैलाई गई।

24 जुलाई को अलीपुरद्वार जिले के मदारीहाट में एक वैन में बर्तन बेचने वाले छह युवक भी हिंसक भीड़ का शिकार हो गए थे। इस मामले में भी कुछ स्थानीय लोगों ने उन पर बाल अपहरण करने का संदेह जताया था।

इसके बाद तीन युवक तो मौके से भागने में सफल रहे। मगर बाकी लोगों को भीड़ ने पकड़ लिया और पुलिस के पहुंचने से पहले जमकर पीटा।

वहीं इससे पहले 22 जुलाई को जलपाईगुड़ी जिले के नागराकाटा में एक अधेड़ उम्र के व्यक्ति को बाल अपहरणकर्ता होने के संदेह में मार दिया गया था। इस घटना के सिलसिले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *