SciTech

इंटीग्रेटेड सुरक्षा से जुड़ी नई तकनीक लाया एंटीवायरस संस्था मैकफे

जुलाई 2020 में मैकफे द्वारा कराए गए कोविड-19 थ्रेट रिपोर्ट के मुताबिक मैकफे लैब्स को मैलिशियस ऐप्स, फिशिंग कैम्पेन, मालवेयर आदि से हर मिनट औसतन 375 नई थेट्र मिलीं।

मुम्बई : मैकफे ने सोमवार को अपने लेटेस्ट कंज्यूमर सिक्योरिटी पोर्टफोलियो की घोषणा की, जिसमें बेहतर यूजर अनुभव एवं नई विशेषताओं के साथ बेहतर उत्पाद शामिल हैं। यह उपभोक्ताओं को इंटीग्रेटेड सोशल मीडिया एवं टेक स्कैम प्रोटेक्शन भी प्रदान करेगा। मौजूदा समय में उपभोक्ताओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए उत्पाद में इन नई विशेषताओं का समावेश किया गया है, ताकि यूजर्स घर से व्यवसायिक व व्यक्तिगत काम करते हुए आने वाले मौजूदा खतरों से सुरक्षित रहें।

मैकफे इंडिया के वाईस प्रेसिडेंट ऑफ इंजीनियरिंग एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, वेंकट कृष्णापुर ने कहा, “घर, ऑफिस एवं स्कूल डिजिटल हो जाने के साथ आज के उपभोक्ताओं को संपूर्ण स्तर पर डिवाईस एवं वेब प्रोटेक्शन की जरूरत है, ताकि उनके डिजिटल जीवन का हर पक्ष सुरक्षित बने। आज के तेजी से कनेक्टेड होते विश्व के अनुरूप निर्मित, मैकफे का विकसित उत्पाद संग्रह उपभोक्ताओं के कनेक्टेड जीवन का हर पक्ष सुरक्षित बनाने का एक व्यवहारिक माध्यम है।”

जुलाई 2020 में मैकफे द्वारा कराए गए कोविड-19 थ्रेट रिपोर्ट के मुताबिक मैकफे लैब्स को मैलिशियस ऐप्स, फिशिंग कैम्पेन, मालवेयर आदि से हर मिनट औसतन 375 नई थेट्र मिलीं। इस थ्रेट्स से सुरक्षा देने और कोरोनावायरस से जुड़े स्कैम का समाधान करने के लिए मैकफे उत्पाद श्रृंखला में निम्नलिखित अपडेट एवं इन्हेंसमेंट किए गए हैं।

टेक स्कैम प्रोटेक्शन: अब ऐसी वेबसाईट पर विजिट करने पर मैकफे वेबएडवाईजर चेतावनी देता है, जो आपके कंप्यूटर की रिमोट एक्सेस साईबर क्रिमिनल्स को दे सकती हैं। इससे भारत में दर्ज हुए धोखाधड़ी के 128 करोड़ ऑनलाईन नुकसानों का समाधान हो सकेगा।

एडवांस्ड मैलवेयर डिटेक्शन: मैकफे ने अपनी मशीन लनिर्ंग की क्षमताएं बढ़ाकर विभिन्न डिवाईसेस पर विकसित होने वाली थ्रेट्स को पहचानने में लगने वाले समय में सुधार किया है। यह फाईल-लेस थ्रेट्स से अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करता है।

ग्राहकों का अनुभव बेहतर बनाया

उपभोक्ता सुरक्षा से ज्यादा महत्व सुविधा को देते हैं और ऑनलाईन सुरक्षा को तब तक नजरंदाज कर जाते हैं, जब तक उनका कोई नुकसान न हो जाए। कोरोना महामारी के दौरान ऑनलाईन धोखाधड़ी में बढ़ोत्तरी के बावजूद भारत में यूपीआई (यूनिफाईड पेमेंट इंटरफेस) के साथ ऑनलाईन भुगतान बढ़े है और जुलाई, 2020 में लगभग 1.5 बिलियन ट्रांजैक्शन दर्ज हुए।

सामान्य जिंदगी कब बहाल होगी, यह अभी भी अनिश्चित है। इंटरनेट का उपयोग बढ़ता जा रहा है। इसलिए मैकफे ने ग्राहकों की जरूरतों को समझकर ऐसे समझदार समाधान प्रस्तुत किए हैं, जिनके द्वारा वो उस चीज पर ज्यादा ध्यान दे सकेंगे, जो अभी उनके लिए सबसे जरूरी है। इनमें शामिल हैं:

बेहतर यूजर अनुभव: आसान नैविगेशन एवं रीडेबल अलर्ट्स के साथ कंप्यूटर एवं ऐप का बेहतर अनुभव। संभावित समस्याओं की ज्यादा तीव्र समझ के लिए स्पष्ट कॉल टू एक्शंस।

अपडेटेड पासवर्ड प्रोटेक्शन: आईओएस डिवाईसेस पर ऐप्स एवं ब्राउजर्स में ऑटोमैटिकली फिल्ड इन यूजर अकाउंट इन्फॉर्मेशन एवं पासवर्ड द्वारा आईओएस एप्लीकेशंस ज्यादा तेजी से एक्सेस करें।

सुरक्षा – अभी और भविष्य की

विश्व में उपभोक्ता काम करने के नए तरीके के अभ्यस्त हो रहे हैं। वो कनेक्टेड जीवन के लिए इंटरनेट पर निर्भर हैं। वो काम पूरा करने, मनोरंजन करने, दोस्त व परिवार के साथ कनेक्ट होने, खरीद करने, स्कूलिंग आदि के लिए इंटरनेट पर निर्भर हो गए हैं।

ऑप्टिमाईज्ड प्रोडक्ट अलर्ट: रिडिजाईन किए गए प्रोडक्ट अलर्ट, ताकि उपभोक्ताओं को तत्काल सुरक्षा के लिए सिंगल-क्लिक कॉल टू एक्शन के साथ संभावित सुरक्षा जोखिमों की बेहतर जानकारी रहे।

सोशल मीडिया प्रोटेक्शन: यूजर्स को गलती से मैलिशियस वेबसाईट्स पर जाने से बचाने के लिए मैकफे अब छ: मुख्य प्लेटफॉर्म्स – फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब, इंस्टाग्राम, रेडिट एवं लिंक्डइन पर विस्तृत सोशल मीडिया फीड्स देता है।

बेहतर ऐप प्राईवेसी चेक: एंड्रायड डिवाईसेस के मुख्य स्कैन में ऐप प्राईवेसी इंटीग्रेट कर उपभोक्ता अब देख सकेंगे कि मोबाईल ऐप कब व्यक्तिगत जानकारी मांगता है।

आज कनेक्टेड डिवाईसेस पर ज्यादा समय बिताया जाता है और उपभोक्ता घर से काम करने की नई जीवनशैली के अभ्यस्त हो रहे हैं। इसलिए मैकफे सुरक्षा सुनिश्चित कर रहा है, ताकि यूजर्स बिना चिंता के अपना काम कर सकें।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.