Friday , September 20 2019
Hamza bin Laden
हम्जा बिन लादेन, फोटो - आईएएनएस

हवाई हमले में मारा गया ओसामा का बेटा हम्जा लादेन

अल कायदा के संस्थापक ओसामा बिन लादेन का बेटा और अपने पिता द्वारा स्थापित हिंसक इस्लामिक संगठन का उभरता मुखिया हम्जा बिन लादेन की हवाई हमले में मारे जाने की जानकारी सामने आ रही है। अमेरिकी मीडिया आउट्लेट्स ने खुफियां अधिकारियों का हवाला देते हुए यह जानकारी दी है।

रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों ने बताया कि तारीख, स्थान और मौत की अन्य परिस्थितियों को अभी स्पष्ट नहीं किया जा सकता, लेकिन आतंकवादियों के बीच हुई बातचीत से उसके मरने की जानकारी सामने आई है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रमुख प्रशासनिक अधिकारियों ने अभी मौत की रिपोर्ट की पुष्टि नहीं की है।

रिपोर्ट्स के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, “मैं इस पर कमेंट नहीं करना चाहता हूं।”

हम्जा बिन लादेन, जिसकी उम्र 30 साल होने का अनुमान लगाया गया जा रहा है, उसने अमेरिका और अन्य देशों पर हमला करने के लिए ऑडियो और वीडियो संदेश जारी किए थे।

फरवरी में अमेरिकी सरकार ने उसकी जानकारी देने वालों को 10 लाख डॉलर इनाम देने की घोषणा की थी, वहीं सउदी अरब ने उसकी नागरिकता रद्द कर दी थी।

हम्जा बिन लादेन की मौत की पुष्टि सबसे पहले एनबीसी न्यूज ने की। रिपोर्ट में कहा गया है कि वह पिछले दो वर्षों में एक सैन्य कार्रवाई में मारा गया था, जिसमें अमेरिकी सरकार शामिल थी, लेकिन उसके मरने की सटीक तारीख और समय अभी स्पष्ट नहीं।

विदेश विभाग ने 2017 में हमजा बिन लादेन पर प्रतिबंध लगाते हुए कहा था कि तत्काल समय में वह सक्रिय रूप से आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त था।

ऐसी संभावना है कि उसका जन्म 1989 में सऊदी अरब में हुआ था और वह ओसामा बिन लादेन का इकलौता बेटा था, जिसके बारे में लोग जानते थे। वह 11 सितंबर 2001 को हुए हमले के बाद भी आतंकवादी संगठन के साथ जुड़ा रहा।

ओसामा बिन लादेन के दूसरे बेटे को उसके पिता के साथ ही 2011 में पाकिस्तान में नौसेना के जवानों ने मार दिया था। वहीं उसके तीसरे बेटे ने खुद को अल कायदा से दूर कर लिया।

अलकायदा नेता अयमान अल जवाहिरी ने हमजा बिन लादेन को 2015 में संगठन का आधिकारिक सदस्य घोषित किया था। वहीं स्टेट डिपार्टमेंट का कहना था कि उसने 11 सितंबर के हमलों के प्रमुख अपहरणकर्ता मोहम्मद अट्टा की बेटी से शादी की थी।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *